UY scuti in hindi – ब्रह्मांड का सबसे बड़ा तारा

ब्रह्मांड का सबसे बड़ा तारा यु वाय स्कूटी (UY scuti in hindi) है। और आज हम इसीके बारे में जानेंगे।

अगर आप ब्रह्मांड के विषय में रूचि रखते हो तो आपके मन में एक बार यह सवाल जरूर आया होगा की brahmand ka sabse bada tara कोन सा है।

हम जानते है कि हमारा ब्रह्मांड कितना बड़ा है। जहा एक आकाशगंगा के अंदर 400 खरब तारे आये हो और ऐसी 100 अरब आकाशगंगाएं ब्रह्मांड में मौजूद हो तो यह सवाल आना तो बनता ही है।

चलिये जानते है इस तारे के बारे में।

UY scuti in hindi

UY scuti history in hindi

साल 1860 में जर्मन खगोलशास्त्री ने UY scuti की खोज की थी। जब उसने इस तारे (star) की खीज की तो उसे पता नही था कि उसने क्या खोज निकाला हैं।

उस समय एडवांस साधन ना होने की वजह से ज्यादा इसके बारे में जानकारी नही थी। लेकिन जब जब समय गुजरता गया इसके बारे में ज्यादा जानकारी मिलना शुरू हो गया।

और फिर साल 2012 में पता चल गया की यह अब तक का खोजा गया ब्रह्मांड का सबसे बड़ा तारा है। (biggest star in the universe in hindi)

इसके साथ ही जब इस तारे की खोज हुई थी, तब इसका नाम यह नही था, लेकिन समय के चलते इसे UY scuti के नाम से जाना गया।

Size of UY scuti in hindi

वैसे तो UY scuti बहोत बड़ा तारा है लेकिन में अगर आपको सीधे इसकी लंबाई के बारे बताऊंगा तो आपको छायद समझ में नही आएगा। इसीलिए चलिए इसकी तुलना हमारी पृथ्वी से करते है।

अगर बात करे हमारे सूरज की तो आपने अब तक कही ना कही ये जरूर पढ़ा होगा की सूरज (sun) के सामने हमारी ये पृथ्वी एक रेत के दाने जितनी भी नही है।

फिर भी आप इस फोटो में देख सकते है कि कितना विशाल है हमारा यह सूरज।

Earth vs sun in hindi

UY scuti की त्रिज्या सूर्य से 1708 गुना ज्यादा है। अगर कद की बात करे तो 270 करोड़ सूर्य इस तारे के अंदर समा सकते है।

वैसे आपको ऐसे पता नही चलेगा, में आपको सूर्य और यु वाय स्कूटी दोनों की तुलना करके ही दिखा देता हूं। इस नीचे दिखाए फोटो को ध्यान से देखिए।

Sun vs uy scuti in hindi

अब आपको समझ में आ गया होगा की यह तारा असल में कितना विशाल है।

इस तारे की एक छोर से दूसरे छोर तक की लंबाई 2.4 अरब किलोमीटर है। अगर इस तारे को हम अपने सौरमंडल में सूर्य के बदले रखे, तो यह शनि ग्रह तक फैल जाएगा और इसका वायुमंडल लगभग प्लूटो तक।

भले ही यह सूर्य से इतना बड़ा हो, पर इसका द्र्व्यमान सूर्य से सिर्फ 30 गुना ही ज्यादा है।

द्र्व्यमान के मामले में सबसे बड़ा तारा R 136 a1 है। यह सूर्य से 300 गुना ज्यादा massive है और 30 गुना बड़ा।

biggest star in the universe in hindi – ब्रह्मांड का सबसे बड़ा तारा

क्या सचमे यह ब्रह्मांड का अब तक का खोजा गया सबसे बड़ा तारा है। इसका जवाब है पता नही।

ऐसा जवाब होने की वजह है प्रकाश।

आसमान के कई तारे समय के साथ अपने प्रकाश को बदलते रहते है। इस तरह के तारो को variable star कहा जाता है। इन में से ही एक तारा है UY scuti.

एक सर्वे के दौरान ही इस तारे को खोजा गया था, जब दुबारा सर्वे के लिए इस तारे को देखा तो इसके प्रकाश में बदलाव नजर आया।

इसी वजह यह तारा पल्स होता हुआ दिखाई देता है। इसी लिए इसे pulse star भी कहा जाता है।

इसकी प्रकाश की तीव्रता बदलने की अवधि 740 दिन की है।

जब किसी तारे के द्र्व्यमान (mass) और उसकी लंबाई को नापा जाता है तब उससे आने वाला प्रकाश एक महत्व का काम करता है। लेकिन इसके बदलते प्रकाश की वजह से इसकी जानकारी में तफावत मिलता है, जैसे की इसकी त्रिज्या 1700 से 1708 सूर्य जीतनी हो सकती है।

कुछ ऐसे तारे है जो UY scuti से थोड़े ही छोटे है। इससे जो UY scuti की न्यूनतम (कम से कम) लंबाई मानी जाती है उस लंबाई को यह तारे पार कर जाते है। जिससे हम यह कह सकते है कि पूरी तरह से यु वाय स्कूटी ब्रह्मांड का सबसे बड़ा तारा नही माना जाता है।

यह तारा अब सुपरनोवा बनने जा रहा है, इसके कारण यह अपना कुछ द्रव्यमान अंतरिक्ष में खो रहा है। जिससे यह और भी छोटा होता जा रहा है। चलिए अब बात कर लेते है इसके सुपरनोवा बनने पर।

UY scuti Supernova

हाल में यह एक red super giant star है। यह तब होता है जब किसी तारे का ईंधन समाप्त हो जाता है।अब वो हीलियम तत्व से अपनी ऊर्जा उत्त्पन्न कर रहा है।

हीलियम ख़त्म होने के बाद इसका कोर लोहे का उत्पादन शुरू कर देगा और अपने ही कोर में यह तारा गिरता चला जाएगा, एक समय के बाद यह अपने ही गुरुत्वाकर्षण बल को झेल नही पाएगा और फिर धूम्म्मम्म। एक धमाके से जन्म होगा बलैक होल का।

जानिए: ब्लैक होल के गहरे राज

अगर कुछ वैज्ञानिको की माने तो उनका कहना है की यु वाय स्कूटी (UY scuti in hindi) का तापमान अभी बढ़ेगा और यह एक yellow hyper giant star में बदल जाएगा।

Hyper giant star बहोत खास होते है इनकी मात्रा ब्रह्माण्ड में बहोत कम है। यह तारे अंतरिक्ष में बहोत जल्दी अपना द्र्व्यमान गुमाते है।

habitable planet – रहने लायक ग्रह

अब तक इस तारे के आसपास किसी भी प्लेनेट को नही खोजा गया है, लेकिन अगर होगा तो सवाल यह उठता है कि क्या उस पर जीवन होगा या क्या वह रहने योग्य होगा। इसका सरल सा जवाब है नही।

क्योंकि अगर कोई प्लेनेट होगा भी तो इस तारे के रेडियेशन की वजह से रहने लायक नही बन सकता।

ऐसा हो सकता है कि जब UY scuti इतना नही बढ़ा होगा उस समय कोई ऐसा प्लेनेट होगा जहाँ पर जीवन मौजूद हो। मतलब की एलियन लाइफ।

अब बारी है कुछ रोचक तथ्यों की।

Facts about UY scuti in hindi

जब UY scuti की खोज हुई तब इसका नाम BD-12 0 55 था।

यह हमारी ही आकाशगंगा मंदाकिनी के Scutam नामक तारामंडल में स्थित है।

अगर यह तारा हमारी मिल्की वे की किसी खाली जगह में मौजूद होता तो हम इसे दूरबीन से भी देख सकते।

Scutam constellation, जहाँ पर यह तारा स्थित है वो ब्रह्मांड का सबसे छोटा constellation है।

यह हमारी पृथ्वी से 5,200 प्रकाश वर्ष दूर है और साथ ही मिल्की वे गेलेक्सि के केंद्र के नजदीक भी।

यु वाय स्कूटी तारा हमारे सूर्य से 340,000 गुना ज्यादा चमकदार है।

UY scuti के परिघ का एक चक्कर पूरा करने में प्रकाश को 7 घँटे लग जाते है जब की सूर्य के लिए यह समय सिर्फ 14 सेकंड है।

आपको क्या लगता है यु वाय स्कूटी (UY scuti in hindi) ही ब्रह्मांड का सबसे बड़ा तारा है या इससे भी बड़े तारे ब्रह्मांड में होंगे जो हमे अभी तक ना मिले हो।

अपना जवाब कॉमेंट में बताना और अगर ऐसा ही कुछ मजेदार पढ़ना चाहते हो तो यह लेख देख सकते हो।

👉 सीरियस वो तारा है जो सबसे ज्यादा चमकता है। जानिए उससे जुड़े 9 अदभुत तथ्य

 

Leave a Comment

Share via
Copy link